नीति और नीयत हो साफ, तो ऐसे बढ़ता है विकास का ग्राफ

सबसे पहले किसानों की पीड़ा दूर करने के लिए कृषि ऋण मोचन योजना की न सिर्फ घोषणा की, बल्कि उसे तत्काल लागू कराकर लाखों किसानों को राहत पहुंचाई.

सिर्फ 22 महीने और पिछले 22 साल की बदहाली पीछे छोड़ते हुए आज उत्तर प्रदेश का विकास रथ सुनहरे भविष्य की ओर द्रुतगति से चलायमान है. और, यह संभव हो सका है उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ की लोक-हितकारी नीति और साफ नीयत की वजह से. मार्च 2017 में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ जी ने सबसे पहले किसानों की पीड़ा दूर करने के लिए कृषि ऋण मोचन योजना की न सिर्फ घोषणा की, बल्कि उसे तत्काल लागू कराकर लाखों किसानों को राहत पहुंचाई. चाहे केंद्र सरकार की योजनाएं हों या राज्य सरकार की अपनी योजनाएं, पिछले 22 महीने में इन योजनाओं को शत-प्रतिशत जमीन पर उतारने का काम हुआ. उज्जवला योजना, हर घर बिजली कनेक्शन, स्वच्छता अभियान, सडक़-हाईवे निर्माण, निवेश आकर्षित करने का काम, अपराध पर लगाम लगाने का काम यानी हर एक काम का असर अब उत्तर प्रदेश में साफ-साफ दिख रहा है.

×