न्यूज फ्लैश

‘जुमलेबाजी बंद करो’ की गूंज के बीच पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर हमला किया

ओपिनियन पोस्‍ट

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संसद में बयान दिया। लोकसभा में पीएम मोदी के बयान से पहले ही विपक्षी सदस्यों ने नारेबाजी शुरू कर दी। पीएम मोदी के खड़े होने पर भी शोर कम नहीं हुआ और विपक्षी सांसदों ने सदन में जमकर नारेबाजी की। पीएम मोदी के बयान के दौरान सदन में बीजेपी की सहयोगी टीडीपी के सांसद भी नारेबाजी करते रहे। इस दौरान जुमलेबाजी बंद करो, ड्रामा बंद करो, झूठे वादे बंद करो और धमकाना बंद करो जैसी नारेबाजी करते रहे। यहां तक कि जुमलेबाजी बंद करो जैसे नारे भी गूंजते रहे। साथ ही झूठा भाषण बंद करो और मैच फिक्सिंग बंद करो जैसे नारे भी सुनाई देते रहे।

पीएम के बयान की खास बातें:

पीएम मोदी ने बेरोजगारी पर हो रही नारेबाजी के बीच कहा कि रोजगार का आंकड़ा क्यों नहीं देते हैं। पीएम ने ये भी पूछा कि स्वरोजगार को रोजगार नहीं मानोगे क्या। उन्होंने ये भी बताया कि हमारी सरकार ने बिना गारंटी 10 करोड़ लोन दिए गए और बीच में कोई दलाल नहीं आया।
उन्‍होंने कहा कि गैर बीजेपी राज्यों में एक करोड़ से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला है। क्या आप इसको भी झूठा कहेंगे? देश को गुमराह करने की कोशिश मत कीजिए। प्रधानमंत्री ने एनपीए का भी जिक्र किया और कहा कि ये कांग्रेस के नीतियों का नतीजा था और हमारी सरकार ने इसे खत्म करने के लिए कदम उठाया। प्रधानमंत्री ने कहा कि एनपीए पर कांग्रेस के पाप को जानते हुए भी मैं चुप था लेकिन देश सब जानता है।
पीएम मोदी ने कहा कि आजादी के 70 साल बाद भी किसानों की हालत ठीक नहीं है और किसानों के नाम पर खूब राजनीति हो रही है। पीएम ने कहा कि हमारी सरकार ने फसल को बर्बाद होने से बचाने की योजना बनाई।
कांग्रेस 21वीं सदी का सपना दिखाती थी लेकिन इन्होंने एक उड्डयन नीति तक नहीं बनाई, तो क्या ये बैलगाड़ी वाली 21वीं सदी चाहते थे। 1980 में 21वीं सदी की बात करना मंजूर था, लेकिन अगर मोदी 2018 में आजादी को हो रहे 75 साल 2022 की बात करता है तो आपको तकलीफ हो रही है। उन्‍होंने कहा कि आपकी तरफ से आशंका थी कि मोदी आधार को खत्म कर देगा। पर जब आधार अच्छे ढंग से लागू हो गया, गरीब को उसका फायदा मिलने लगा, तो आपको को उसका इंप्लीमेंटेशन खराब लगने लगा। विधवा, बुजुर्गों और दिव्यांगों की पेंशन सालों तक बिचौलियों की जेब में जा रही थी। आपको डीबीटी से परेशानी है, क्योंकि जो रोजगार गया है वो दलालों और बिचौलियों का गया है।
आपकी एक गलत नीति के कारण देश को आज करोड़ों रुपये का बांस आयात करना पड़ता है, हमारी बांस नीति से देश के किसान की आय बढ़ेगी।
मोदी ने कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि आपने मां भारती के टुकड़े कर दिए, फिर भी देश आपके साथ रहा। लोकतंत्र में सरकार आती जाती रहती हैं, देश बना रहता है। पीएम मोदी ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि पंचायत से पार्लियामेंट तक आपका झंडा था, लेकिन आपने पूरा समय एक परिवार के गीत गाने में बिता दिया। मोदी ने कहा कि आपने जिम्मेदारी के साथ काम किया होता तो इस देश की जनता में सामर्थ था कि ये देश आज जहां है इस से कई गुना आगे होता।
पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस हमे लोकतंत्र का पाठ न पढ़ाए, राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कैबिनेट का बिल फाड़ दिया था। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और नेहरू जी ने देश को लोकतंत्र नहीं दिया है।
पीएम ने कहा कि इस देश में 90 से अधिक बार धारा 356 का उपयोग करते हुए, राज्य सरकारों को, राज्य के दलों को आपने उखाड़ कर फेंक दिया। आप किस लोकतंत्र कि बात करते हो?
पीएम मोदी ने कहा कि राजस्थान में बाड़मेर रिफाइनरी का शिलान्यास सिर्फ कांगजों पर था, जमीन पर कुछ नहीं था। चुनाव को ध्यान में रखते हुए पत्थर जड़ दिया गया था, जिसे हमें पूरा करना पड़ा।
पीएम ने कहा कि कांग्रेस ने आंध्र प्रदेश की अनदेखी कर तेलंगाना बनाया। आंध्र प्रदेश के बंटवारे के लिए राज्य के बारे में नहीं सोचा गया और राजनीतिक वजह से तेलंगाना बना दिया गया, जहां आज भी समस्या जारी है।
कांग्रेस के चलते भारत का विभाजन किया गया और आजादी के 70 साल बाद भी उस पाप की सजा सवा सौ करोड़ हिंदुस्तानी झेल रहे हैं।
पीएम ने कहा कि सरदार पटेल के साथ अन्याय किया गया। अगर देश के पहले पीएम पटेल होते तो कश्मीर पूरा हमारा होता।
पीएम मोदी ने टीडीपी सांसदों की नारेबाजी के बीच ये भी कहा कि एनटी रामा राव के सीएम रहते हुए राजीव गांधी ने उनका अपमान किया, जिसके बाद टीडीपी की स्थापना हुई।
काफी देर तक विरोध और नारेबाजी बंद होने के बाद पीएम मोदी ने ये भी कहा कि मेरी आवाज दबाने की कोशिश नाकाम होगी। इस दौरान उन्होंने नारेबाजी कर रहे सांसदों से ये भी आह्वान किया, ‘अरे कुछ तो कम करो।’

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (5258 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*