न्यूज फ्लैश

नोएडा व ग्रेटर नोएडा के बीच एक्वा लाइन मेट्रो 25 से

प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम लेने के लिए केंद्र सरकार को भेजा पत्र

ओपिनियन पोस्‍ट।

वैसे तो नोएडा से ग्रेटर नोएडा जाने के लिए बसों की अच्‍छी व्‍यवस्‍था है, लेकिन मेट्रो की बात ही कुछ और है। लेकिन अब ग्रेटर नोएडा के लोगों को मेट्रो सेवा के लिए ज्‍यादा इंतजार नहीं करना होगा। क्‍योंकि इसी वर्ष 25 दिसंबर को एक्वा लाइन मेट्रो का संचालन शुरू हो जाएगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इसका उद्घाटन करेंगे। शासन की तरफ से नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन एवं दोनों प्राधिकरणों को इसका संदेश दे दिया गया है। हालांकि, अभी औपचारिक घोषणा नहीं हुई है।

आधिकारिक सूत्रों की मानें तो प्रदेश सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कार्यक्रम लेने के लिए केंद्र सरकार को पत्र भेजा है। प्रधानमंत्री का कार्यक्रम मिलते ही उद्घाटन समारोह की औपचारिक घोषणा कर दी जाएगी। 25 दिसंबर को पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी का जन्मदिन है। सरकार अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर शहरवासियों को मेट्रो का तोहफा देना चाहती है। इसलिए विशेष रूप से इस दिन का चयन किया गया है।

नोएडा, ग्रेटर नोएडा के बीच पिछले लंबे समय से मेट्रो चलने का इंतजार किया जा रहा था। प्राधिकरण और नोएडा मेट्रो रेल कारपोरेशन (एनएमआरसी) ने पहले दिसंबर 2017 तक ट्रायल पूरा कर मार्च 2018 तक शुरू करने का लक्ष्य रखा था। करीब नौ माह की देरी से एक्वा लाइन मेट्रो का संचालन होगा।

नोएडा के सेक्टर 71 चौराहे (सेक्टर 51) से ग्रेटर नोएडा तक 29.7 किलोमीटर लंबे ट्रैक पर 21 स्टेशन हैं। पहले 55 सौ करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान किया गया था, लेकिन बाद में एनएमआरसी के तत्कालीन एमडी संतोष यादव ने इसकी कास्ट घटाकर 43 सौ करोड़ रुपये कर दी थी।

ट्रायल का कार्य अंतिम चरण में हैं। दिसंबर के प्रथम सप्ताह कमिश्नर ऑफ मेट्रो रेल सेफ्टी (सीएमआरएस) निरीक्षण करने आएंगे। सीएमआरसी के निरीक्षण के बाद मेट्रो संचालन को हरी झंडी मिल जाएगी। दोनों शहरों के बीच मेट्रो शुरू होने का सर्वाधिक लाभ ग्रेटर नोएडा को होगा।

बेहतर आवागमन की सुविधा के अभाव में शहर की आबादी नहीं बढ़ पा रही है। करीब 10 से 15 हजार मकान खाली पड़े हैं। मेट्रो चलने के बाद शहर की आबादी बढ़ जाएगी। एनसीआर के अन्य शहरों के मुकाबले ग्रेटर नोएडा में मकानों का किराया सस्ता है। चौड़ी सड़क,  खुला क्षेत्र,  बड़े पार्क व घनी हरियाली लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करती है। मेट्रो चलने के बाद यहां लोग रहना पंसद करेंगे।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4573 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*