न्यूज फ्लैश

भारत के संगीत और जनहित कार्य का सम्‍मान

दो ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट टीएम कृष्णा और बेजवाड़ा विल्सन को 2016 का रेमन मैग्सेसे अवॉर्ड देने की घोषणा

नई दिल्ली। साल 2016 के रमन मैग्सेसे अवॉर्ड की घोषणा कर दी गई है। इस सूची में दो भारतीयों के भी नाम शामिल हैं। भारत के दो ह्यूमन राइट एक्टिविस्ट टीएम कृष्णा और बेजवाड़ा विल्सन को 2016 का रेमन मैग्सेसे अवॉर्ड देने की घोषणा हुई है। कृष्णा कर्नाटक क्लासिकल म्यूजिशियन और सिंगर हैं, वहीं विल्सन ‘सफाई कर्मचारी आंदोलन’ से जुड़े हैं। इस प्रकार भारत के संगीत और जनहित कार्य का सम्‍मान किया गया है। रमन मैग्सेसे फिलीपींस का अवॉर्ड है। यह फिलीपींस के पूर्व राष्‍ट्रपति रमन मैग्सेसे के नाम पर दिया जाता है। अवॉर्ड 6 कैटेगरीज-गवर्ननेंट सर्विस, पब्लिक सर्विस, कम्युनिटी ली़डरशिप, जर्नलिज्म-लिटरेचर-क्रिएटिव कम्युनिकेशन आर्ट्स, पीस-इंटरनेशनल अंडरस्टैंडिंग, इमरजेंट लीडरशिप में दिया जाता है। भारत में अब तक 53 लोगों को ये अवॉर्ड मिल चुका है।

कृष्णा को ‘क्लासिकल म्यूजिक को समाज के हर स्तर तक ले जाने के लिए’ ये अवॉर्ड दिया जाएगा। मैग्सेसे कमेटी ने कृष्णा को चुनने की वजहें बताईं, “उन्होंने क्लासिकल म्यूजिक को निचले स्तर खासकर दलितों और नॉन-ब्राह्मण तबके तक ले जाने का काम किया। साथ ही, कृष्णा ने यह भी घोषणा की थी कि वह ऐसे किसी खास समारोह में नहीं गाएंगे, जहां लोगों को टिकट लेना पड़े।”

कृष्णा ने चेन्नई में होने वाले एनुअल म्यूजिक फेस्टिवल का इसलिए विरोध किया था, क्योंकि उसमें सभी को एंट्री नहीं थी। यह भी कहा गया, “एक आर्टिस्ट होने के नाते कृष्णा ने खुद को कभी खास नहीं माना। उनका आर्ट सबके लिए है। वे एक आर्टिस्ट होने के साथ राइटर, स्पीकर और एक्टिविस्ट भी हैं।” फिलहाल कृष्णा रूस में हैं और उन्हें अवॉर्ड की जानकारी दे दी गई है।

विल्सन सफाई कर्मचारी आंदोलन के राष्‍ट्रीय संयोजक हैं। वह खुद एक दलित परिवार से ताल्लुक रखते हैं। उन्हें ये अवॉर्ड ‘छोटे तबके की जिंदगी की बेहतरी के लिए’ काम करने के लिए दिया गया है। कमेटी का कहना है, “50 साल के विल्सन बीते 32 साल से इस आंदोलन से जुड़े हुए हैं। विल्सन में न केवल एक जनसमूह को संगठित करने की क्षमता है, बल्कि वह भारत के कॉम्प्लेक्स लीगल सिस्टम के अंदर रहकर काम कर रहे हैं।”

सफाई कर्मचारी आंदोलन के भारत के 500 जिलों में 7 हजार से ज्यादा सदस्‍य हैं। एक अनुमान के मुताबिक, भारत में कचरा बीनने वाले करीब 6 लाख लोग हैं। इनमें से 3 लाख को विल्सन ने मुक्त कराया है।

चार विदेशी लेखकों को भी पुरस्कार

यह पुरस्कार एशिया के लोगों के लिए निस्वार्थ सेवा के लिए दिया जाता है। विलसन और कृष्णा के अलावा फिलिपींस,  इंडोनेशिया,  लाओस और जापान के चार विदेशी लेखकों को भी 2016 का पुरस्कार दिया जा रहा है।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (5258 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*