हिमाचल में बजा चुनावी बिगुल, गुजरात का इंतजार

नई दिल्ली।

हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए चुनावी बिगुल बज गया है, लेकिन गुजरात चुनाव के लिए तिथियों की घोषणा का अभी इंतजार है। चुनाव आयोग ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि पूरे हिमाचल प्रदेश में फोटो वोटर आईडी कार्ड और वीवीपैट का इस्तेमाल होगा। ऐसा पहली बार होने जा रहा है।

हिमाचल में 16 अक्टूबर को अधिसूचना जारी होगी। 9 नवंबर को वोट डाले जाएंगे। 18 दिसंबर को वोटों की गिनती होगी। मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 7 हजार 5 सौ 21 पोलिंग स्टेशन हैं।

सभी पोलिंग स्टेशन ग्राउंड फ्लोर पर होंगे और सभी जगहों पर वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। आयोग ने कहा कि हिमाचल प्रदेश में 12 अक्‍टूबर से आचार संहित लागू है। पहली बार किसी राज्य चुनाव में पूरी तरह वीवीपैट का इस्तेमाल किया जाएगा। हर उम्मीदवार चुनाव प्रचार में खर्च कर सकता है। हर चुनावी रैली की वीडियोग्राफी होगी।

उन्‍होंने कहा कि मतदाता वीवीपैट से निकली पर्ची से उस उम्मीदवार के नाम का मिलान कर लें जिसको वोट दिया।  मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि हर उम्मीदवार को हर कॉलम भरने होंगे और ऐसा न करने पर नोटिस जारी किया जाएगा।

चुनाव आयोग की घोषणा का स्वागत करते हुए कांग्रेस नेता और हिमाचल प्रदेश की प्रभारी रंजीता रंजन ने कहा कि हिमाचल में कांग्रेस पार्टी लड़ाई जीतने के लिए तैयार है। उन्होंने कहा कि हम काफी दिनों से चुनाव आयोग की घोषणा के इंतजार में बैठे थे। कांग्रेस की लगातार छह बार हिमाचल में सरकार रही है।

सूत्रों की मानें तो कि गुजरात विधानसभा चुनाव दिसंबर में दो चरणों में हो सकते हैं। पिछली बार भी गुजरात विधानसभा चुनाव दो चरणों हुए थे। पिछली बार 4 नवंबर को चुनाव हुआ था और 20 दिसंबर को नतीजा आया था।

आयोग के आला अधिकारियों ने कहा कि पहले ही चुनाव कार्यक्रम के ऐलान में देरी हो चुकी है, लिहाज़ा बृहस्‍पतिवार को ही ऐलान करने का फैसला आयोग ने ले लिया। उधर, सरकार के उच्चपदस्थ सूत्रों के मुताबिक भी सरकार को जो ऐलान,  उद्घाटन और शिलान्यास करने थे सब हो गए हैं।

गौरतलब है कि दोनों राज्यों में चुनाव को देखते हुए पेट्रोल-डीज़ल के रेट घटाए गए हैं। केंद्र सरकार के कहने पर ही राज्य सरकारों ने वैट में कटौती की। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी गुजरात का मोर्चा संभाले हुए हैं। राहुल ने पिछले एक महीने में दो बार गुजरात का दौरा किया है। राहुल शहर-शहर घूमकर मोदी सरकार पर हल्ला बोल रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी पिछले कुछ दिनों में ही गुजरात के कई दौरे कर चुके हैं। पीएम ने पिछले दिनों गुजरात में ही बुलेट ट्रेन की नींव रखी, सरदार सरोवर डैम की शुरुआत की और भी कई तरह की योजनाओं की शुरुआत की। पीएम हाल ही में अपने गृहनगर वडनगर भी गए थे।

गुजरात में 182 विधानसभा सीटें हैं। अभी बीजेपी के पास 120, कांग्रेस 43, एनसीपी 2, जद(यू) 1, 1 सीट निर्दलीय के पास है। दूसरी ओर हिमाचल में कुल 68 विधानसभा सीटें हैं, जहां 36 कांग्रेस के पास, 27 बीजेपी के पास और 5 निर्दलीय के पास हैं।

×