न्यूज फ्लैश

जियो का आया ‘हैप्पी न्यू ईयर प्लान’

रिलायंस जियो का वेलकम ऑफर अब खत्म हो चुका है लेकिन जियो के मौजूदा ग्राहकों और जियो से जुड़ने का मन बना चुके लोगों को परेशान होने की जरूरत नहीं है। क्योंकि जियो का ‘वेलकम ऑफर’ अब ‘हैप्पी न्यू ईयर प्लान’ में बदल चुका है। और हां वेलकम ऑफर का सिर्फ नाम हीं नहीं बदला, बल्कि इसके कुछ फीचर्स भी बदल चुके हैं।

क्यों बदला गया वेलकम ऑफर का नाम?

रिलायंस जियो ने अपने ‘वेलकम ऑफर’ का नाम इसलिए बदला गया है, क्योंकि TRAI के मुताबिक, किसी भी ‘वेलकम ऑफर’ की अवधि 90 दिन से ज्यादा नहीं हो सकती है। जियो ने शुरुआत के साथ अपने ‘वेलकम ऑफर’ की अवधि 31 दिसंबर 2016 रखी थी। लेकिन बाद में इसे और आगे बढ़ाने के चलते जियो को अपने वेलकम ऑफर का नाम बदलकर ‘हैप्पी न्यू ईयर प्लान’ रखना पड़ा।

क्या है हैप्पी न्यू ईयर प्लान?

आने वाली 4 दिसंबर से जियो से जुड़ने वाले कस्टमर्स मार्च 2017 तक सभी जियो ऐप्स मुफ्त में इस्तेमाल कर सकेंगे. इसके अलावा, उन्हें फ्री अनलिमिटेड डेटा, कॉल्स, वीडियो और वाईफाई की सुविधाएं भी मिलेंगी। इसके अलावा मौजूदा कस्टमर्स को भी ये सारे ऑफर्स मिलते रहेंगे।

नए प्लान में Jio ने कम की डेटा लिमिट

महज तीन महीनों के भीतर करीब 5 करोड़ से ज्यादा कस्टमर्स को अपने साथ जोड़ने वाली रिलायंस जियो ने हैप्पी न्यू ईयर प्लान में डेटा लिमिट में भी कटौती की है। जियो ने शुरुआत में ‘वेलकम ऑफर’ के तहत अपने कस्टमर्स को प्रति दिन के हिसाब से 4 जीबी डेटा दिया था। हालांकि अब हैप्पी न्यू ईयर प्लान के तहत डेटा लिमिट 4 जीबी से घटाकर 1 जीबी प्रतिदिन कर दी गई है। जियो के मुताबिक, यह कटौती डेटा का दुरुपयोग रोकने के लिए की गई है।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4436 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

*