दीपा कर्माकर ने रचा इतिहास ओलंपिक के लिए किया क्वालीफाई

देश की टॉप जिमनास्ट दीपा कर्माकर ने इतिहास रचा है, दीपा ने अगस्त में होने वाले रियो ओलंपिक के लिए क्वालीफाई कर लिया है। इसके साथ ही वे ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय जिमनास्ट बन गई हैं। दीपा ने महज 22 साल की उम्र में ओलिंपिक के लिए क्वालिफ़ाई किया है।

52.698 अंक जुटाकर किया क्वालीफाई

22 साल की दीपा ने रविवार को रियो डि जनेरियो में अंतिम क्वालीफायर और ओलंपिक टेस्ट इवेंट में प्रभावी प्रदर्शन किया। दीपा ने कुल 52.698 अंक जुटाकर रियो ओलंपिक में अपनी जगह पक्की की।

दीपा ने कॉमनवेल्थ गेम्स में भी रचा था इतिहास

ग्लासगो कॉमनवेल्थ गेम्स में कांस्य पदक जीतकर इतिहास रचने वाली दीपा महिला कलात्मक वर्ग में चार उप डिवीजन में से पहली में नौवें स्थान पर रही।

पिछले महीने उन्हें प्रतियोगियों की सूची में शॉर्टलिस्ट किया गया

इससे पहले दीपा कर्माकर पहली ऐसी भारतीय महिला जिमनास्ट थीं जिन्होंने 2014 ग्लासगो कॉमनवेल्थ खेल में कांस्य पदक जीता। इसके बाद वह ऐसी पहली भारतीय महिला जिमनास्ट भी बनीं जिसने पिछले साल नवंबर में हुए वर्ल्ड जिमनास्टिक्स चैंपियनशिप्स फ़ाइनल्स के लिए क्वालिफ़ाई किया। बड़ी बात यह कि पहले इस टूर्नामेंट के लिए दीपा को सेकंड रिज़र्व श्रेणी में रखा गया था लेकिन पिछले महीने उन्हें इसकी जानकारी दी गई कि उन्हें प्रतियोगियों की सूची में शॉर्टलिस्ट कर लिया गया है।

दीपा से पहले 11 जिमनास्ट भी ओलिंपिक में हिस्सा ले चुके हैं…

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ओलिंपिक में जिमनास्टिक्स में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाली दीपा कर्माकर पहली खिलाड़ी हैं, लेकिन यह सच नहीं है। इससे पहले 1956 मेलबर्न ओलिंपिक खेलों में 3 सदस्यीय पुरुष टीम- प्रीतम सिंह, शाम लाल, अनंत कुमार ने भारत का प्रतिनिधित्व किया था तो 1964 में 6 सदस्यीय पुरुष टीम ने भारत का प्रतिनिधित्व किया था। लेकिन उस समय जिमनास्टिक्स में कोई क्वॉलिफ़िकेशन नहीं होता था, उस समय प्रतिनिधित्व कोई भी जाकर कर सकता था। इस तरह से जिमनास्टिक में क्वालिफ़ाइंग राउंड को देखते हुए दीपा ऐसा करने वाली पहली भारतीय ज़रूर  बनी हैं।

×