जियो से कस्टमर परेशान, क्या कहती है मुकेश अंबानी की कुंडली

 

अजय विद्युत।

सस्ते के चक्कर में जियो का सिम तो लोगों ने ले लिया, लेकिन ज्यादातर उपभोक्ता उसकी सेवाओं से त्रस्त हैं। नेट फोर जी की जगह टू जी से भी धीमा चल रहा है तो कहीं लोग फोन पर बात करने को तरस जाते हैं। जियो के फेसबुक पेज पर बिक्की प्रसाद ने शिकायत की है, ‘जब तक फ्री था तब तक तो इंटरनेट की ठीक स्पीड दे रहा था, जबसे पैसा लेना शुरू किया तबसे स्पीड नहीं है नेटवर्क नहीं है… फ्राड है जियो।’ हजारों-लाखों की संख्या में देश के विभिन्न भागों के जियो उपभोक्ता अपना दुखड़ा रो रहे हैं। रंजीत परिदा का कहना है, ‘बंगलुरु जैसे शहर में भी जियो के सिग्नल का बुरा हाल है। न कॉल कर पा रहे हैं, न सुन पा रहे हैं… डाटा यूज करना तो भूल ही जाओ।’

दुनिया में टेलीकॉम क्षेत्र में अब तक के सबसे बड़े निवेश वाली मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली स्टार्टअप कंपनी रिलायंस जियो का आगे क्या होने वाला है- ओपिनियन पोस्ट ने ज्योतिर्विद समीर उपाध्याय से यह जानने की कोशिश की।

ज्योतिर्विद समीर उपाध्याय
ज्योतिर्विद समीर उपाध्याय

मुकेश अंबानी का जन्म वृश्चिक लग्न और धनु राशि में हुआ है। उनकी कुंडली देखें तो अभी राहु की महादशा चल रही है जो 31 जुलाई 2019 तक चलेगी। फिलहाल राहु में चंद्रमा लगा हुआ है जो चलेगा 15 जुलाई 2018 तक। और फिर अगस्त 2019 से गुरु की महादशा आएगी जो सोलह वर्ष की होगी।

मुकेश अंबानी की कुंडली को टेलीकॉम कंपनी जियो के कारोबार की नजर से देखें तो एक बात यह उभरकर सामने आ रही है कि भविष्य में जियो नंबर वन कंपनी बन जाएगी। यह बिल्कुल साफ नजर आ रहा है कि बाजार का सबसे बड़ा हिस्सा जियो के पास होगा और बाकी सारी कंपनियों को जियो नेस्तनाबूद कर देगी।

और इसी के साथ यह भी साफ है कि अपने पूरे सिस्टम को सुचारु कर उपभोक्ताओं को पूरी तरह संतुष्ट कर पाने में जियो को लगभग एक वर्ष का समय और लगेगा। अभी एक साल तक ऐसे ही चलता रहेगा कि कुछ उपभोक्ता जियो से खुश होंगे तो कुछ उसके नेटवर्क पर इंटरनेट और कॉलिंग को लेकर दुखी रहेंगे। उत्तरोत्तर सुधार होगा। यह महत्वपूर्ण और संघर्षपूर्ण सफलता का दौर है।

अभी एक साल तक तमाम कारणों से कुछ मामले कस्टमर कोर्ट में जाएंगे, कुछ कोर्ट में जाएंगे और कुछ कंपनी कोर्ट में जाएंगे। लेकिन इससे कंपनी का कुछ बड़ा बिगड़ता हुआ दिख नहीं रहा है। तो यह मानकर चलिए कि अगले वर्ष जुलाई से जियो टेलीकॉम क्षेत्र में मार्केट का सबसे बड़ा शेयर होल्डर बन चुका होगा। और एक अगस्त 2019 के बाद वह सर्वश्रेष्ठ स्थिति में होगा जब उसका नेटवर्क पूरी तरह दुरुस्त होगा, उपभोक्ता संतुष्ट होंगे।

चूंकि फिलहाल मुकेश अंबानी की कुंडली में राहु की महादशा में चंद्रमा और शनि की साढ़े साती लगी है, उसका परिणाम है कि आगे एक साल तक विवादपूर्ण और संघर्षपूर्ण सफलता का दौर रहने वाला है। विवाद, मतभेद, झंझट, परेशानी लगे रहेंगे। लेकिन अंततोगत्वा कामयाबी मिलेगी।

अभी तक जियो की सफलता डिस्ट्रक्टिव वाली चल रही है। जिसे कहते हैं दूसरों को नुकसान पहुंचाकर फायदा हासिल करना। अगले एक साल में जियो की दक्षता और गुणवत्ता में सुधार आएगा और स्थितियां बेहतर होंगी। जियो के नेटवर्क और सेवाओं से दुखी उपभोक्ताओं की जो संख्या आज दिख रही है, उसमें भी काफी कमी आएगी। अभी तो ज्यादातर लोग दो दो सिम लेकर घूम रहे हैं एक जियो का और दूसरा किसी और कंपनी का, तब शायद उन्हें ऐसी जरूरत नहीं पड़ेगी।

एक साल बाद कुंडली में राहु में मंगल आएगा। मंगल पराक्रम योग में भी शामिल हैं। तो चीजें थोड़ी ठीक होने लगेंगी। और 2019 के बाद तो अधिकतम लोग जियो से संतुष्ट होंगे। तकनीक उत्तरोत्तर विकसित कर और सुविधाएं बढ़ाने के साथ ही कई अन्य आयामों में जियो अपना कारोबार विकसित करेगा।

मुकेश अंबानी की कुंडली की खास बातों का जिक्र करें तो इसमें केंद्र त्रिकोण राजयोग बना है। एक और योग है जिसे ज्योतिष की भाषा में अखंड महाभाग्य योग कहा जाता है। वह भी मुकेश की कुंडली में मौजूद है। तो वह भाग्य के भी धनी हैं। एक तीसरा योग भी उनकी कुंडली में बन रखा है जिसे पराक्रम योग कहा जाता है। और इसके अलावा महालक्ष्मी योग तो है ही। मुकेश अंबानी की कुंडली यह भी बताती है कि जियो अपने कारोबार के विस्तार में अन्य टेलीकॉम कंपनियों का भी सहयोग ले सकती है।

×