चेन्नई पहुंचा ‘वरदा’ तूफ़ान

चक्रवाती तूफान वरदा चेन्नई पहुंच गया है। वरदा के चेन्नई के तट से टक्कराने की खबर है। तमिलनाडु के तटीय इलाकों में भारी बारिश हो रही है। तेज हवाएं चल रही हैं, जिसके कारण पेड़ उखड़ गए हैं। संभावना जताई गई है कि 100 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाए चलेंगी। तट से टकराने के बावजूद तूफान कमजोर नहीं होगा।

तूफान के चलते कई इलाकों की बिजली को बंद कर दिया गया है, ताकि अनहोनी से बचा जा सके। तटीय इलाकों से लोगों को बाहर निकाला गया है। अगले 2 घंटे भारी बारिश की संभावना के चलते लोगों से घर में रहने की अपील की गई है। चेन्नई से 25 उड़ानें रद्द कर दी गई हैं और 31 उड़ानें लेट हैं।

 भारतीय मौसम विभाग की ओर से पहले यह अनुमान जताया गया था कि यह अपनी तीव्रता कम करेगा,लेकिन बाद में कहा गया कि यह तट से टकराने के बावजूद कमजोर नहीं होगा।

चेन्नई, तिरूवल्लूर एवं कांचीपुरम जिलों में सुबह से भारी बारिश हो रही है और इन जिलों में तेज हवाएं भी चल रही हैं। इन इलाकों के कई हिस्सों में एहतियातन विद्युत आपूर्ति बंद कर दी गई है। थल सेना, नौसेना एवं वायु सेना के साथ सशस्त्र बलों को भी तैयार रहने को कहा गया है ताकि कभी भी आवश्यकता पड़ने पर उन्हें तैनात किया जा सके।

 चक्रवर्तीय तूफ़ान वरदा का नाम पाकिस्तान ने दिया है। फ़िलहाल इस चक्रवात का असर बंगाल की खाड़ी में है। वरदा का मतलब है कि लाल गुलाब।

लोगों से अपील सावधानी बरतें

तमिलनाडु में एनडीआरएफ की सात और आंध्र प्रदेश में छह टीमें मौजूद हैं। वरदा से निपटने के लिए वायुसेना को भी हाई अलर्ट कर दिया गया है। लोगों से अपील की गई है कि तूफान के दौरान वे पेड़ों के नीचे न खड़े हों और न ही अपनी गाड़ियों को उनके आसपास लगाएं।

तमिलनाडु सरकार ने प्रभावित इलाकों में सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा की मछुआरों से अगले 48 घंटे तक समंदर में नहीं जाने को कहा गया है। वरदा के कारण तमिलनाडु सरकार ने प्रभावित इलाक़ों में आज सार्वजनिक छुट्टी की घोषणा की है। इसके तहत स्कूल-कॉलेज और दफ़्तर बंद रहेंगे।

 

×