राजनीति

राजनीति

खिलाड़ी बिगाड़ रहे हैं खेल

लोकसभा चुनाव को लेकर राज्य में अगर कुछ तय है, तो यह कि इस बार कांग्रेस फिसड्डी नहीं रहने वाली. 2014 के चुनाव में मोदी लहर के चलते कांग्रेस की झोली खाली रह गई थी. भाजपा इस बार भले ही २५ का आंकड़ा न दोह...

बिहार की राजनीति के ‘वीआई पी’

आम तौर पर भारतीय राजनीति को एलीट क्लास का ‘खेल का मैदान’ माना जाता रहा है. लेकिन, बीच-बीच में यहां आम आदमी का हस्तक्षेप भी होता रहा है. नेहरू के एलिटिज्म को चुनौती देते हुए लोहिया हों या इंदिरा की तान...

त्रिकोणीय मुकाबले में फंस गए नवीन

पिछले 19 सालों से ओडिशा में एकछत्र शासन करने के साथ-साथ जबरदस्त लोकप्रियता हासिल करने वाले नवीन पटनायक को पहली बार गंभीर चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. चुनाव की घोषणा होने से पहले तक उनके पांचवीं बा...

प्रधानमंत्री की हत्या की साजिश

हम इस बार एक ऐसा सच उजागर कर रहे हैं, जो कई सालों से सरकारी फाइलों में दफन था. यह ऐसा खुलासा है, जिसे जानकर आपके दिलोदिमाग को यकीनन एक झटका लगेगा. यह ऐसा सच है, जिसके बारे में किसी ने सपने में भी नहीं...

कांग्रेस चेती, भाजपा ने नहीं बदला ढर्रा

लगता है, भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव के नतीजों से कोई सबक नहीं लिया. यही वजह है कि लोकसभा चुनाव सिर पर होने के बावजूद पार्टी के अंदरखाने कलह थमने का नाम नहीं ले रहा. इसके ठीक विपरीत कांग्रेस...

कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं गौर

वरिष्ठ भाजपा नेता एवं मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू लाल गौर कांग्रेस का दामन थाम सकते हैं. ऐसा माना जा रहा है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर भोपाल से लडऩे की तैयारी कर रहे है...

पूर्णिया (बिहार) : पुराने योद्धा, नया समीकरण

साल 2014 की मोदी लहर में नीतीश कुमार की लाज बचाने वाले संतोष कुशवाहा इस बार खुद मोदी के भरोसे हैं और 2004 से अब तक भारतीय जनता पार्टी का परचम लहराने वाले उदय सिंह उर्फ पप्पू ‘पंजा’ निशान लेकर मैदान मे...

सीतामढ़ी (बिहार) : रूठों को मनाना एक बड़ी चुनौती

सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र में आगामी छह मई को मतदान होगा. 10 अप्रैल से इस सीट के लिए नामांकन शुरू हो जाएंगे, जो 18 अप्रैल तक चलेंगे. 22 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. जिले में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई...

अबकी बार किसकी सरकार

मोदी ने जो कहा, सो किया नवादा के डेंटल ओरल सर्जन डॉ. रमेश कुमार का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मिशन ने कई अहम मुकाम हासिल किए. स्वच्छ भारत मिशन, सबको आवास और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना...

विपक्षी एकता हुई निजी महत्वाकांक्षाओं का शिकार

मजबूत विपक्ष मजबूत लोकतंत्र की एक आवश्यक शर्त है. सिर्फ इसलिए नहीं कि सत्ता पर अंकुश बनाए रखना जरूरी है. इसलिए भी कि सत्ता से सवाल करते रहने का काम भी विपक्ष का ही है. लेकिन, भारतीय लोकतंत्र में आम तौ...

×