मनोरंजन

परिणीति इन, श्रद्धा आउट

टी सीरीज ऐसा प्रोडक्शन हाउस है, जो ओरिजिनल काम के खिलाफ है, साथ ही गुटबाजी में भी आगे है. पहले गुलशन कुमार की बायोपिक से अक्षय कुमार के ऑप्ट आउट करने के बाद टी सीरीज ने अक्षय की हर फिल्म के खिलाफ अपनी...

वाजपेयी की नाराजगी

यूं तो फिल्म फेयर फिल्मों की सफलता का कोई मापदंड नहीं है, लेकिन बीते कुछ सालों से प्रोपेगैंडा के जरिये इसे ‘ए’ ग्रेड अवॉर्ड का नाम दे दिया गया है. अब इस चक्कर में इसके नॉमिनेशन पर हर साल बवाल इसलिए हो...

डिजिटल के दर पे चले आए शाहरुख

अंजुम राजबली, जो मशहूर स्क्रिप्ट राइटर हैं, ने उस अफवाह की पुष्टि कर दी है, जिसके मुताबिक शाहरुख खान फिल्म ‘जीरो’ के पिटने के कारण गहरे सदमे में चले गए हैं. अंजुम के मुताबिक, सिर्फ स्पेस एंगल की समानत...

मजबूर माधुरी

संजय दत्त के फिल्मी करियर से ज्यादा उनके क्रिमिनल पास्ट और अफेयर्स चर्चा में रहे हैं. ‘बाबा’ के नाम से मशहूर दत्त की जिंदगी में जितनी भी महिलाएं आईं, अच्छे तजुर्बे से नहीं गुजरीं. माधुरी दीक्षित भी उन...

स्टार्स बनाम एजेंट

हॉलीवुड में किसी भी एक्टर का करियर उसके एजेंट से बनता-बिगड़ता है. ये कास्टिंग एवं मैनेजमेंट एजेंट्स ही स्टार्स की मार्केट कीमत घटाते-बढ़ाते हैं, बेहतरीन फिल्मों की डील लाते हैं. यह चलन बॉलीवुड में भी...

अब सलमान के हवाले नुसरत भरूचा

बॉलीवुड में अकेले सलमान खान ही हैं, जो न्यूकमर एक्टर, एक्ट्रेस और सिंगर वगैरह को लॉन्च करते रहते हैं. इस वजह से उन्हें ‘भाई’ की उपाधि से नवाजा गया है. इन भाई साहब ने अपने दोनों भाइयों सोहेल एवं अरबाज...

जाह्नवी का कंफर्ट जोन

फिल्म धडक़ में रेडीमेड रोल करने के बाद एक्ट्रेस जाह्नवी कपूर अपने कंफर्ट जोन से बाहर निकलना चाहती हैं. उन्हें लगता है कि उनकी पीढ़ी के ज्यादातर स्टार सीरियस टाइप रोल कर अवॉर्ड बटोर रहे हैं, तो वह क्यों...

अब कॉमेडी नहीं करेंगे अरशद!

अरशद वारसी को एडल्ट कॉमेडीज से परहेज है. हालांकि, उनके करियर की ज्यादातर फिल्में इसी जॉनर के इर्द-गिर्द घूमती रही हैं और हालिया फ्लॉप फ्रॉड सैंया तो डबल मीनिंग वाले संवादों से भरी पड़ी है. गोलमाल सीरी...

मर्द का दर्द

यह वही बाला हैं, जिन्हें अनुराग कश्यप अपनी फिल्मों में मेंशन करते रहते हैं. जरा हार्डकोर और रिएलेस्टिक सिनेमा के बीच का कंटेंट रचते हैं यह. इनकी फिल्म ‘मर्द को दर्द नहीं होता’ की चर्चा 43वें टोरंटो अं...

उल्टा चोर कोतवाल को डांटे

मीटू कैंपेन ने कई महीने तक फिल्म नगरी में हडक़ंप मचा रखा था. उसके चपेट में कुछ बड़े नाम भी आए, जिन्हें लेकर गुटबाजी दिखी. लेकिन, आलोक नाथ एक ऐसे एक्टर थे, जिन पर सबको यकीन था कि भाई साहब नशे में जरा बह...

×