न्यूज फ्लैश

टॉपर घोटाला- लालकेश्वर सिंह पत्नी समेत गिरफ्तार

बिहार विद्यालय परीक्षा समिति के पूर्व चेयरमैन और टॉपर्स कांड के मास्टरमाइंड लालकेश्वर प्रसाद सिंह और उनकी पत्नी व जेडीयू की पूर्व विधायक ऊषा सिन्हा को सोमवार को वाराणसी से गिरफ्तार कर लिया गया। इसके साथ ही मुजफ्फरपुर से मुख्य आरोपी बच्चा राय के तीन साथि‍यों को हिरासत में लिया गया है। इनमें बच्चा राय के विशुन राय कॉलेज का डिप्टी डायरेक्टर भी शामिल है।

बिहार के शिक्षा मंत्री अशोक चौधरी ने कहा कि लालकेश्वर प्रसाद सिंह और ऊषा सिन्हा की गिरफ्तारी जांच के लिए बहुत अहम साबित होगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में शामिल किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। लालकेश्वर प्रसाद की गिरफ्तारी सरकार के लिए बड़ी सफलता है। यह गिरफ्तारी इस बात को दिखाती है कि सरकार दोषि‍यों पर कार्रवाई और ऑपरेशन क्लीन के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है।

लाल्केश्वर की गिरफ़्तारी के बाद टॉपर्स घोटाले में बड़े खुलासे हो सकते हैं। बच्चा राय ने भी पूछताछ में लाकेश्वर को ही किंगपिन बताया है। गौरतलब है की लालकेश्वर प्रसाद की पत्नी उषा सिंह गंगा देवी महिला महाविद्यालय की प्राचार्य हैं और वह 9 जून से 16 जून तक छुट्टी पर चली गई थी। लालकेश्वर का बेटा लंदन में इंजीनियरिंग कर रहा है। पुलिस को आशंका थी कि कहीं दोनों विदेश न भाग जाएं। इसलिए लुकआउट नोटिस भी जारी किया गया था।

कैसे हुई गिरफ्तारी
लालकेश्वर और उनकी पत्नी के छिपे होने की खबर चार दिन पहले पुलिस को मिली थी। दोनों अपने बेटे के साले विकास चंद्र की बहन के भेलूपुर इलाके स्थित घर में छिपे हुए थे। यह इलाका इतनी घनी आबादी वाला है कि पुलिस मोबाइल टावर लोकेशन के आधार पर उस घर तक नहीं पहुंच पा रही थी। इसी बीच पुलिस को खबर मिली की सोमवार की सुबह दोनों किसी आश्रम में शिफ्ट हो रहे हैं। इसी दौरान सादे लिबास में तैनात रंगदारी सेल के जवानों ने उन्हें पकड़ लिया। विकास चंद्र के बहनोई को भी गिरफ्तार किया गया है। विकास की तलाश जारी है। जोनल आईजी नय्यर एच खान ने बताया की पुलिस पिछले चार दिन से वाराणसी में कैंप कर रही थी। पटना के एसएसपी मनु महाराज के मुताबिक लालकेश्वर से पटना में पूछताछ की जाएगी।

लालकेश्वर प्रसाद के कार्यकाल में बोर्ड ऑफिस काले कारनामों का अड्डा बन चुका था। वहां पैसे के बल पर जमकर खेल खेला जाता था। एक निजी टीवी चैनल की ओर से फर्जी टॉपरों का स्टिंग किए जाने के बाद यह मामला सामने आया था। इस मामले के सामने आने के बाद बिहार की शिक्षा व्यवस्था की एक बार फिर से किरकिरी हुई है।इससे पहले पुलिस लालकेश्वर प्रसाद के पीए अनिल सिंह को नालंदा के हिलसा से गिरफ्तार कर चुकी है।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4594 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*