न्यूज फ्लैश

भंसाली की ‘पद्मावती’ को हरी झंडी

फिल्म के टाइटल पद्मावती और घूमर डांस पर आपत्ति को मान लिया गया, नए टाइटल के साथ हो सकती है रिलीज!

मुंबई।

सेंसर बोर्ड ने विवादों में घिरी संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती को यू/ए सर्टिफिकेट के साथ पास कर दिया है। उसने फिल्म के टाइटल पद्मावती और घूमर डांस पर आपत्ति को मान लिया है और फिल्म में कुल 26 कट लगाने को कहा है। सबसे बड़ी बात कि फिल्म का नाम बदलने का भी सुझाव दे दिया गया है। पिछले 28 दिसंबर को हुई मीटिंग में कमेटी ने फिल्म पर कुछ सुझाव दिए थे। बोर्ड का मकसद फिल्म से जुड़े विवाद को ख़त्म करना है।

बोर्ड ने एक एडवाइजरी पैनल भी बनाया था। रिव्यू कमेटी और एडवाइजरी पैनल की टिप्पणी मिलने के बाद बोर्ड ने विवाद ख़त्म करने के लिए जरूरी सुझाव मान लिए हैं। रिव्यू कमेटी ने फिल्म के टाइटल ‘पद्मावती और घूमर डांस पर आपत्ति जताई और इसे बदलने की सलाह दी, जिसे मान लिया गया। निर्माताओं को फिल्म में डिस्क्लेमर भी डालना होगा।

बता दें कि पद्मावती को प्रमाणन देने के लिए सेंसर बोर्ड ने 28 दिसंबर को अपनी जांच समिति की बैठक की। फिल्म के विवाद से निपटने के लिए एक कमेटी का गठन भी किया गया इसमें पद्मावती के वंशज और राजघराने के चेहरे भी शामिल हुए। बैठक में सीबीएफसी अधिकारियों के साथ नियमित जांच समिति के सदस्यों और अध्यक्ष प्रसून जोशी की उपस्थिति में एक विशेष सलाहकार पैनल भी शामिल था।

बैठक में फिल्म के निर्माता और सोसाइटी को ध्यान में रखते हुए फिल्म को एक संतुलित दृष्टिकोण की तरह पेश किए जाने पर सहमति बन गई। सेंसर चीफ प्रसून जोशी के साथ सीबीएफसी द्वारा गठि‍त पैनल में उदयपुर पूर्व राजपरिवार के सदस्य अरविंद सिंह मेवाड़, जयपुर यूनि‍वर्सिटी के डॉ. चंद्रमणी सिंह और प्रोफेसर केके सिंह शामिल थे।

स्पेशल पैनल और जांच कमेटी की मौजूदगी में हुई सेंसर बोर्ड की इस बैठक से पहले फिल्म के निर्माता संजय लीला भंसाली ने लिखि‍त रूप में सेंसर बोर्ड से पैनल और कमेटी को फिल्म दिखाने की मांग की थी। रिव्यू कमेटी और बोर्ड के फैसले की जानकारी फिल्म के निर्माता वायकॉम और संजय लीला भंसाली के साथ शेयर की जा चुकी है। सूत्रों की मानें तो सुझाए बदलावों पर निर्माता राजी हैं।

क्या है पद्मावती पर विवाद

फिल्म को लेकर लंबे समय से हंगामा हो रहा है। आरोप है कि संजय लीला भंसाली ने पद्मावती के व्यक्तित्व को तोड़-मरोड़ कर पेश किया है। फिल्म में रानी पद्मावती और खि‍लजी के बीच ड्रीम सीक्वेंस है। हालांकि भंसाली खुद इस बात को खारिज कर चुके हैं। बाद में एक बयान में उन्होंने ये भी कहा कि उनकी फिल्म जायसी की पद्मावत पर आधारित है।

विवाद की वजह से 12 दिसंबर को प्रस्तावित फिल्म सेंसर में अटक गई और इसकी रिलीज डेट टालनी पड़ी। भंसाली को संसदीय कमेटी के सामने भी पेश होना पड़ा, जहां वो कई सवालों का जवाब नहीं दे पाए। चर्चा है कि फिल्म अगले साल रिलीज हो सकती है। हालांकि अभी सेंसर को इसे पास करना है। पद्मावती को लेकर विवाद भी शांत नहीं हुए हैं। इस फिल्म में दीपिका पादुकोण पद्मावती की भूमिका में हैं तो रणवीर सिंह अलाउद्दीन खि‍लजी और शाहिद राज रतन सिंह रावल के किरदार में नजर आएंगे।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4594 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*