रमेश कुमार 'रिपु'

Avatar

2019 के जंग की रणनीति

राज्य में कांग्रेस की सरकार है, लेकिन उसके बड़े नेता 11 दिसंबर को आए चुनावी नतीजे आज भी भूले नहीं हैं, खासकर मुख्यमंत्री कमल नाथ. हालांकि वह कहते हैं, हमारा हारा हुआ उम्मीदवार भी कांग्रेस सरकार का प्र...

करे कोई, भुगते कोई

कांग्रेस की सरकार नक्सल समस्या के समाधान को लेकर कितनी भ्रमित है, इसका एक जीता जागता उदाहरण है, गोडेलगुड़ा की घटना. इस घटना में दो आदिवासी महिलाओं की मौत को लेकर राज्य के कैबिनेट मंत्री सीआरपीएफ को कठ...

फंदे में फंसे उस्ताद

कांग्रेस प्रत्याशी को चुनाव न लडऩे के लिए दी गई रिश्वत का आडियो टेप चार साल बाद कई सियासी सूरमाओं के लिए मुसीबत बन गया है. अदालत ने जहां अग्रिम जमानत की याचिका खारिज कर दी है, वहीं एसआईटी जांच के चलते...

किसानों के नाम पर फर्जीवाड़ा

सहकारी समितियों में किसानों के नाम पर गोलमाल होने के कई मामले सामने आए हैं. कमल नाथ सरकार ने कर्ज माफी का अपना वादा निभाने के लिए जैसे ही कर्जदार किसानों की सूची जारी की, राज्य में हडक़ंप मच गया. कई कि...

भाजपा में ‘ऑल इज वेल’ नहीं

भारतीय जनता पार्टी में इन दिनों ‘ऑल इज वेल’ के हालात नहीं हैं. पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह एवं प्रदेश अध्यक्ष द्वारा राज्य में करारी हार का ठीकरा कार्यकर्ताओं के सिर फोड़े जाने से नेताओं में खासी नाराज...

पुरानी सरकार के पोस्टमार्टम में जुटी नई सरकार

मुख्यमंत्री कमल नाथ चाहते हैं कि वह सत्ता की स्लेट पर एक ऐसी लकीर खींचने में कामयाब हों, जिसे राज्य की जनता हमेशा याद रखे. यही वजह है कि उनकी नई-नवेली सरकार के पहले रिपोर्ट कार्ड में शिवराज सरकार के प...

मीसाबंदी पेंशन पर उठी उंगलियां

मध्य प्रदेश सरकार ने ढाई हजार से अधिक मीसाबंदियों की पेंशन पर रोक लगा दी है. सरकार के इस फैसले का मीसाबंदियों का संगठन लोकतंत्र सेनानी विरोध कर रहा है. संगठन का कहना है कि अगर सरकार इस पर कोई विधेयक ल...

रमन के दमन की सियासत

भूपेश सरकार इन दिनों डॉ. रमन सिंह की सियासत का दमन करने में जुटी है. उनके कार्यकाल के कामकाज का पोस्टमार्टम इस मकसद से कर रही है ताकि वह लोकसभा चुनाव से पहले जनता को बता सके कि रमन के विकास का सच क्या...

×