वाल्मीकि कुमार

बिहार चुनाव : किसी की राह आसान नहीं

एनडीए और महागठबंधन के नेता एक-दूसरे पर नाकामी के आरोप लगा रहे हैं. वहीं आम जनता अपना फैसला खुद करने की बात कहकर उम्मीदवारों को ‘खबरदार’ कर रही है. सबसे सुखद बात यह है कि इस बार शहर से लेकर गांव तक लोग...

जातीय गोलबंदी हो सकती है असरदार

सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र के चुनावी दंगल में जारी जातीय गोलबंदी से अजीब स्थिति बन गई है. एनडीए की ओर से पहले दलगत प्रत्याशी की मांग जोर पकड़ती रही, लेकिन जब दलगत प्रत्याशी चुनाव मैदान में उतारा गया, तो...

सीतामढ़ी (बिहार) : रूठों को मनाना एक बड़ी चुनौती

सीतामढ़ी लोकसभा क्षेत्र में आगामी छह मई को मतदान होगा. 10 अप्रैल से इस सीट के लिए नामांकन शुरू हो जाएंगे, जो 18 अप्रैल तक चलेंगे. 22 अप्रैल तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. जिले में राजनीतिक सरगर्मी बढ़ गई...

टिकट के लिए मारामारी शुरू

सीतामढ़ी एवं पूर्वी चंपारण जिले के बीच स्थित शिवहर में लोकसभा चुनाव की तैयारियां शुरू हो गई हैं. एनडीए और महागठबंधन की ओर से संभावित प्रत्याशियों ने जनता दरबार में गुहार लगानी शुरू कर दी है. 2014 के ल...

×