न्यूज फ्लैश

एटीएम के अंदर 12 लाख के नोट कुतर गए चूहे

बर्बाद हो गए 2000 और 500 के नए नोट, 20 मई से बंद था एटीएम

नई दिल्ली।

एटीएम में नोट के लिए एक और खतरा सामने आया है। अभी तक ठग और घोटालेबाज नोट पर हाथ साफ करते थे, लेकिन अब चूहों से भी एटीएम में नोट सुरक्षित नहीं रह गए हैं। मामला असम के तिनसुकिया में स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया यानी एसबीआई के एटीएम का है जहां चूहों ने 12 लाख रुपये के नोट कुतर डाले।

सभी 2000 और 500 के नए नोट थे। लैपुली इलाके का यह एटीम तकनीकी खराबी की वजह से 20 मई से बंद पड़ा था। नोट के कुतरे जाने का पता तब चला जब पिछले 11 जून को रिपेयरमैन मशीन को ठीक करने आए।

बैंक अधिकारियों की मानें तो 12,38,000 के नोट नष्ट हो गए हैं। बताया जा रहा है कि इनमें से केवल 17 लाख के नोट सही सलामत हैं। एटीएम को चलाने वाली गुवाहाटी की फाइनेंशियल कंपनी एफआईएस ग्लोबल बिजनेस सोल्यूशन ने एटीम में 19 मई को 29 लाख रुपये जमा किए थे।

तिनसुकिया के एक पत्रकार की मानें तो एटीएम 20 मई को खराब हो गया था। शिकायत मिलने पर 11 जून को एटीएम का रखरखाव करने वाली कंपनी एफआईएस ग्लोबल बिजनेस सोल्यूशन के कर्मचारी मशीन ठीक करने पहुंचे थे और वहां का नजारा देखकर सन्न रह गए। यह भी कहा जा रहा है कि इस पूरी घटना के फोटो किसी ने सोशल मीडिया पर डाले थे जो वायरल हो गए हैं।

असम के तिनसुकिया में स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया के उक्‍त एटीएम के ठीक होने का आसपास के लोग इंतजार कर रहे थे कि मशीन ठीक करने के लिए इंजीनियर पहुंचे और दरवाजा खोला तो कुतरे गए नोट देखकर उनकी आंखें खुली की खुली रह गईं। गनीमत ये रही कि लगभग 17 लाख रुपये बर्बाद होने से बचा लिए गए। एसबीआई के अधिकारियों ने नोट बर्बाद होने की पुष्टि कर दी है।

वैसे एटीएम के अंदर नोटों के नष्ट होने की असल वजह चूहे हैं या कुछ और यह अब भी सवालों के घेरे में है। मामले की जांच के लिए तिनसुकिया के पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है। पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। बैंक अधिकारियों के अनुसार, चूहों ने कुल 12 लाख 38 हजार रुपये के नोट बर्बाद कर डाले।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4168 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.

*