न्यूज फ्लैश

अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के दूसरे चरण का शिलान्यास

परियोजना की लागत 212.36 करोड़ रुपये होने का अनुमान है जो की 33 महीने में पूरी होने की संभावना है।

देब दुलाल पहाड़ी । 

आयुष मंत्री श्रीपद येसो नाइक ने बुधवार को दिल्ली के सरिता विहार में देश के पहले अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान (एआईआईए) के दूसरे चरण का शिलान्यास के अबसर पर कहा ” इस इमारत का निर्माण 60,966 वर्ग मीटर के क्षेत्र में किया जाएगा और  परियोजना की लागत 212.36 करोड़ रुपये होने का अनुमान है जो की 33 महीने में पूरी होने की संभावना है।  एआईआईए को आयुर्वेद स्वास्थ्य सुविधाओं के लिहाज से उत्कृष्टता केंद्र बनाने का उद्देश्य है, यह संस्थान आयुर्वेद चिकित्सकों को और अधिक सक्षम बनाएगा। इसके अलावा लोगों को किफायती उपचार मिलेगा।” उन्होने रोग निवारण में आयुर्वेद के महत्व पर बिशेष जोर दिया।

नाइक ने कहा “काम के बढ़ते दायरे को देखते हुए, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद का विस्तार कार्य पहले चरण के रूप में पहले से ही योजनाबद्ध था। यह कार्य एनबीसीसी को सौंपा गया है, सरिता विहार में एआईआईए के दूसरे चरण की इस निर्माण में आठ ब्लॉक और तीन स्तर का तलघर बनाया जाएगा और यह 500 बिस्तर , आयुष स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, फार्मेसी यूनिट, केंद्रीय पुस्तकालय, पंचकर्मा विंग, अंतरराष्ट्रीय गेस्ट हाउस, आवासीय परिसर, लड़कों और लड़कियों के छात्रावास वाले अत्याधुनिक सुविधाओं वाले एक सभागार होगी , “

इस अबसर पर संस्थान के निदेशक प्रोफेसर तनुजा मनोज नेसरी ने कहा ” 200 करोड़ रुपये के लागत में पंचकर्म विशेषता अनुभाग, फार्मेसी, सभागार, आवासीय परिसर, विद्यार्थियोंके छात्रावास, अंतरराष्ट्रीय छात्रावास, आयुष खेल परिसर इत्यादि का निर्माण प्रस्तावित है। 200 बिस्तर वाली इस आयुर्वेद संस्थान पूरी तरह कार्यात्मक है और ओपीडी सेवाओं के माध्यम से हर दिन 1,200 रोगियों की सेवा करती है।”

आयुष मंत्रालय के सचिव वैद्य राजेश कोटेचा ने संस्थान के विकास और मरीजों की बढ़ती हुई जरूरतों को पूरा करने के लिए इन-हाउस फार्मेसी शुरू करने पर जोर दिया।

दक्षिण दिल्ली के महापौर नरेंद्र चावला ने अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान के अस्पताल द्वारा उपलब्ध कराई जा रही उच्चस्तरीय चिकित्सकीय सेवाओं की सराहना की तथा आम जनता को इन सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए प्रेरित किया।

संसद रमेश बिधूड़ी ने स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई ‘आयुषमान भारत योजना’ में आयुर्वेद के महत्व पर जोर दिया और कहा कि दूसरे चरण का निर्माण कार्य शीघ्र पूरा हनी का उम्मीद करते है ।

The Minister of State for AYUSH (Independent Charge), Shri Shripad Yesso Naik releasing the booklet at the foundation stone laying ceremony of All India Institute of Ayurveda, New Delhi, Phase II, at Sarita Vihar, in New Delhi on September 26, 2018. The Secretary, Ministry of AYUSH, Shri Vaidya Rajesh Kotecha and other dignitaries are also seen.

इस अवसर पर आयुर्वेद से स्वस्थ और स्वादिस्ट व्यंजनों के ऊपर किताब “हीलिंग रेसिपीज़ फ्रॉम आयुर्वेद”पुस्तिका का विमोचन किया गया । कार्यक्रम में आयुष मंत्रालय के संयुक्त सचिव पी. एन. रणजीत कुमार, प्रो. एम. एस. बघेल, प्रो. संजय जाचक,रमन गुप्ता, प्रमुख, संविदा, एनपीसीसी , प्रो. महेश कुमार व्यास, विभागाध्यक्ष, संहिता और सिद्धांत विभाग और डॉ. प्रमोद आर यादव , स्वस्थ वृत्त विभागाध्यक्ष डॉ. मंगलगौरी वी राव और वैद्य शालिनी राय , डॉ शिवानी गिल्डियाल सहित अन्य गण्यमान्य व्यक्ति उपस्थिति थे।

आप को बता दे की पिछले साल 17 अक्टूबर, 2017 को मनाए गए दूसरे आयुर्वेद दिवस के अवसर पर दिल्ली में देश के पहले अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान एआईआईए का औपचारिक रूप से प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4584 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*