कुंबले बने एक साल के लिए टीम इंडिया के हेड कोच

बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को घोषणा कि महान गेंदबाज अनिल कुंबले टीम इंडिया के हेड कोच होंगे। अभी कुंबले को एक साल तक के लिए ये जिम्मेदारी दी गई है।अनुराग ठाकुर ने कहा कि कुंबले देश के महान क्रिकेटर रहे हैं। उनके कोच बनने से हमें खुशी. कुंबले महान कोच साबित होंगे.।उन्होंने कहा कि कोच के चयन के लिए पारदर्शी प्रक्रिया अपनाई गई। एक साल बाद कुंबले के प्रदर्शन की समीक्षा की जा सकती है। उनके सपोर्ट स्टाफ पर कहा कि उसके लिए कुछ समय की जरूरत है।

भारतीय टीम के कोच पद के लिए बीसीसीआई ने विज्ञापन जारी किया था।जिसके बाद बोर्ड को इस पद के लिए 57 आवेदन मिले थे, जिनमें से 21 लोगों को चयनित कर किया गया था।

इस सूची को सचिन तेंदुलकर, वीवीएस लक्ष्मण और सौरव गांगुली की क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) को सौंपा गया था, जिसने मंगलवार को उम्मीदवारों के साक्षात्कार कर चुनिंदा उम्मीद्वारों की सूची बीसीसीआई अध्यक्ष अनुराग ठाकुर को सौंपी थी।
कोच बनने के बाद कुंबले ने कहा कि अपनी भूमिका को लेकर उत्सुक हूं ।कोच की भूमिका संभालने को तैयार हूं. खिलाड़ियों के साथ मिलकर काम करूंगा। यह समय देश को वापस करने का है। उन्होंने कहा कि एक अलग भूमिका में भारतीय ड्रेसिंग रूम में वापस लौटना सम्मान की बात है। कोच बाद में आते हैं, पहले खिलाड़ी होते है। रणनीति जीत की होगी।

2015 में जिम्बाब्वे के डंकन फ्लेचर के जाने के बाद टीम के मुख्य कोच का पद पिछले एक साल से खाली पड़ा था. इस दौरान रवि शास्त्री को भारत में खेले गए टी-20 विश्व कप तक टीम का निदेशक बनाया गया था। कुंबले के साथ इस रेस में रवि शास्त्री भी थे। उन्हें भी इस पद का प्रबल दावेदार माना जा रहा था। कोच की नियुक्ति के लिए बोर्ड ने सलाहकार समिति का गठन किया था। जिसमें सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण थे।

×