न्यूज फ्लैश

एंड्रोइड पर हिंदी में फोनेटिक टाइपिंग

– बालेन्दु शर्मा दाधीच

आपको व्हाट्सऐप्प, ईमेल, फेसबुक आदि पर ऐसे बहुत सारे मैसेज मिलते होंगे जोहिंदी में होते हैं। अगर आप अब तक अपने स्मार्टफोन पर हिंदी का प्रयोग नहीं करतेतो आपको जिज्ञासा ज़रूर होती होगी कि ये लोग ऐसा करते कैसे हैं? तो यह कोई विशेष बात नहींहै। एंड्रोइड पर हिंदी में टाइपिंग करने के लिए कई कीबोर्ड एप्लीकेशंस आते हैं,जिनमें से एक है गूगल का इंडिक कीबोर्ड। इसे इन्स्टॉल करके आप भी अभी से अपनेस्मार्टफोन में हिंदी में टाइपिंग करना शुरू कर सकते हैं। आईए, जानते हैं विस्तारसे।

गूगल इंडिक कीबोर्ड गूगल की तरफ से जारी किया गया एप्लीकेशन है जो एंड्रोइड पर दस भारतीय भाषाओं में काम करना संभव बनाता है। आपको गूगल प्लेस्टोर पर जाकर इसे डाउनलोड करना है। डाउनलोड होने में थोड़ा सा समय लगेगा जो आपके इंटरनेट कनेक्शन की रफ्तार पर निर्भर करता है। जब यह डाउनलोड हो जाए तो इन्स्टॉल बटन दबाकर इसे अपने स्मार्टफोन में इंस्टॉल कर लें। इंस्टॉलेशन के बाद ऐप्लीकेशन को ओपन करें।

अब आपको एक दो ज़रूरी सेटिंग्स करनी हैं जो आपको अपने स्मार्टफोन में हिंदी में काम करने में सक्षम बनाएंगी। पहली सेटिंग है, आपको गूगल इंडिक कीबोर्ड को इनेबल करना है। यानी उसे अनुमति देनी है कि वह आपके स्मार्टफोन में टाइपिंग कर सके। इसके बाद आपसे पूछा जाएगा कि आपके फोन में मौजूद बहुत सारे कीबोर्ड ऑप्शंस में से आप किसे डिफॉल्ट कीबोर्ड के तौर पर सलेक्ट करना चाहते हैं। यहाँ पर आपको गूगल इंडिक कीबोर्ड का चुनाव करना है। लेकिन ऐसे दो गूगल इंडिक कीबोर्ड दिखाई देंगे। इनमें से एक में अंग्रेजी और हिंदी लिखा है जबकि दूसरे में हिंदी और हिंगलिश। आपको अंग्रेजी और हिंदी वाला विकल्प चुनना है।

अगले चरण में आपसे कुछ अनुमतियाँ मांगी जाएंगी, जैसे यह कि क्या यह कीबोर्ड आपके कॉन्टेक्ट्स को एक्सेस कर सकता है। यह भी कि क्या गूगल आपके डेटा को कलेक्ट कर सकता है।

इसके बाद आप चाहें तो अपने कीबोर्ड की कोई थीम चुन सकते है। चार थीम्स के विकल्प आपको दिखाए जाते हैं। वरना आप बिना कोई थीम चुने आगे बढ़ सकते है। इसके बाद इस कीबोर्ड की बहुत सारी दूसरी सेटिंग्स हैं जिनको आप अनदेखा या इग्नोर कर सकते हैं।

यह सब हो जाने के बाद अब आप किसी ऐसे ऐप्प में जाएँ जहाँ आप टाइप कर सकें, जैसे व्हाट्सऐप्प, ईमेल, फेसबुक या फिर कोई नोटबुक आदि। जैसे ही आप वहाँ टाइप करने के लिए अपनी उंगली से टैप करेंगे गूगल इंडिक कीबोर्ड उभर आएगा जिसमें भारतीय भाषाओं वाला एक आइकन दिखाई देगा। इसे उंगली से टैप कीजिए। अब आपसे अपनी पसंदीदा भारतीय भाषा का चुनाव करने के लिए कहा जाएगा। यहाँ आप हिंदी का चुनाव कर लीजिए। हिंदी चुन लिए जाने के बाद आपको हिंदी में टाइप करने के तीन तरीके दिखाए जाएंगे जिनमें से अपनी पसंद का तरीका आपको चुनना है। इनमें से पहला फोनेटिक टाइपिंग के लिए है जिसमें आप अंग्रेजी में टाइप करना शुरू करते हैं लेकिन हिंदी के विकल्प सुझाए जाते हैं और आपका अंग्रेजी टेक्स्ट हिंदी में बदलता चला जाता है। दूसरा विकल्प हिंदी ककहरे का है, यानी कि एल्फाबेट, जिसमें हिंदी वर्णमाला के सभी अक्षर दिखाई देते हैं। आप चाहें तो इन पर उंगिलयाँ टैप करके भी टाइप कर सकते हैं। तीसरा विकल्प उंगली से लिखने का है। मेरा सुझाव है कि आप पहला विकल्प चुन लें।

इसके बाद आप टाइप करना शुरू करें। जरा अंग्रेजी में अपना नाम लिखकर देखिए- क्या यह हिंदी में टाइप हो रहा है? अगर हाँ, तो बधाई, आपने सफलता से हिंदी में टाइप करना शुरू कर दिया है।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (5258 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*