अबकी बार किसकी सरकार

बेजोड़ हैं नरेंद्र मोदी

हड्डियों को जोडऩे में माहिर डॉ. भुवन सिंह का मानना है कि देश को जोड़े रखने की ताकत केवल नरेंद्र मोदी में है. सारी दुनिया ने देख लिया कि मोदी पहले किसी को छेड़ते नहीं हैं और कोई अगर देश को छेड़ता है, तो उसे वह छोड़ते भी नहीं हैं. सहरसा में कई सालों से अपनी सेवाएं दे रहे भुवन सिंह कहते हैं, समाज के हर तबके के लिए पिछले पांच सालों में मोदी सरकार ने बेजोड़ काम किया है. आयुष्मान भारत को वह मोदी का अनूठा प्रयोग मानते हैं. कहते हैं, आने वाले दिनों में पूरी दुनिया इस प्रयोग को आजमाएगी. गरीब मरीजों के लिए इससे अच्छी योजना नहीं हो सकती. भुवन सिंह चाहते हैं कि अगले पांच सालों के लिए एक बार फिर देश की जनता को मोदी को मौका देना चाहिए.

मोदी ने बढ़ाया देश का गौरव

शिकारपुर सम्राट गैस के मालिक संजीव सम्राट का कहना है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की गरिमा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मजबूती के साथ स्थापित की, जिसका नतीजा है कि पाकिस्तान विश्व समुदाय से अलग-थलग हो गया है. मोदी ने उज्जवला योजना से गरीब महिलाओं को मुफ्त गैस कनेक्शन देकर धुंए से मुक्ति दिलाई. गरीब सवर्णों को 10 प्रतिशत आरक्षण , स्वच्छता अभियान, जनधन खाते, नोटबंदी, पाकिस्तान पर हवाई हमला, सर्जिकल स्ट्राइक जैसे साहसिक कार्यों से देश मजबूत हुआ है, वहीं आम नागरिकों का आत्मगौरव बढ़ा है. आगामी लोकसभा चुनाव में मोदी का पुन: प्रधानमंत्री बनना तय है.

सभी को मिला सम्मान

सीतामढ़ी जिला भाजपा उपाध्यक्ष सह मीडिया प्रभारी अरुण कुमार गोप का मानना है कि वर्तमान में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने समाज के सभी तबकों के हित में बेहतर कार्य किया. विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सरकार ने गरीबों को वाजिब हक दिलाने का काम किया. घर-घर में शौचालय निर्माण कराकर गरीबों को सम्मानजनक जीवन जीने का मार्ग प्रशस्त किया, वहीं देश के अंदर भ्रष्टाचार मुक्त वातावरण तैयार करने में अहम योगदान दिया. केंद्र सरकार ने गांव-गांव तक सडक़ों का जाल बिछाया, तो दूसरी ओर उज्जवला योजना के तहत गरीब महिलाओं को देश एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में अगली सरकार बनाने को संकल्पित है.

सभी वादे हवा-हवाई

पश्चिमी चंपारण के प्रमुख किसान अखिलेश राय का आरोप है कि नरेंद्र मोदी इन पांच सालों में युवाओं की बेरोजगारी दूर करने, भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने और विदेश से काला धन वापस लाने में नाकाम रहे. उनके सारे वादे हवा-हवाई साबित हुए. किसान खुद को सबसे अधिक उपेक्षित महसूस कर रहे हैं. गन्ना किसान अपनी उपज चीनी मिलों में पहुंचा कर भुगतान के लिए दर-दर भटक रहे हैं. केंद्र सरकार किसानों को नहीं, बल्कि चीनी मिल मालिकों को पैकेज-राहत दे रही है. सरकार सिर्फ बड़ी कंपनियों एवं व्यवसायिक घरानों पर मेहरबान है. आदर्श ग्राम योजना, मेक इन इंडिया, किसानों की आमदनी दोगुनी करने जैसी बातों का कोई असर दिखाई नहीं दिया.

हार जाएगा एनडीए 

सीतामढ़ी जिला राजद अध्यक्ष मोहम्मद शफीक खां का कहना है कि 2019 का चुनाव एनडीए के लिए बेहद घातक साबित होगा. प्रधानमंत्री मोदी की वादाखिलाफी जनता भूली नहीं है. 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी ने जो वादे किए थे, उनमें से कोई पूरा नहीं हुआ. इस सरकार के कार्यकाल में युवाओं को रोजगार के लिए भटकना पड़ा. नोटबंदी के चलते सभी वर्ग के लोगों को परेशानी उठानी पड़ी. हर आदमी को 15 लाख रुपये देने का वादा भी हवा-हवाई बनकर रह गया. बहुमत के बावजूद सरकार ने राम मंदिर मसले  जनता अबकी बार सबक सिखाने के लिए तैयार है.

नया विकल्प खोजना होगा

नवादा से पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रेटिक) के मगध प्रमंडल के अध्यक्ष सह शिक्षाविद् आदित्य प्रधान कहते हैं कि भारत में जितने भी राजनीतिक दल हैं, वे व्यक्तिवादी और अलोकतांत्रिक हैं. कांग्रेस और भाजपा ने मिलकर 70 सालों तक देश को लूटा. आम लोगों को उनके अधिकारों से वंचित रखा गया. अमीरी-गरीबी की खाई बढ़ गई. पिछड़ी जातियों की जितनी पार्टियां थीं, वे बहुजनों के हितों की रक्षा नहीं कर सकीं. आज जितनी भी पार्टियां हैं, वे कांग्रेस और भाजपा के इर्द-गिर्द घूमती हैं. डॉ. भीमराव अंबेडकर द्वारा लिखित संविधान की मूल भावना लागू करने में जुटी पीपुल्स पार्टी ऑफ इंडिया (डेमोक्रेटिक) एक नई रोशनी लेकर आई है.

×