न्यूज फ्लैश

अफसरशाही में फेरबदल की हड़बड़ी में नहीं हैं योगी

ओपिनियन पोस्ट से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विशेष बातचीत

9उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पुरानी सरकारों की गड़बड़ियों को रोकने के लिए सजग हैं पर इसके लिए राज्य की ब्यूरोक्रेसी में फेरबदल करने की हड़बड़ी में नहीं हैं। 6 अप्रैल को सुबह लखनऊ के 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने आवास पर ओपिनियन पोस्ट से विशेष साक्षात्कार में उत्तर प्रदेश के नए मुख्यमंत्री ने सरकार की चुनौतियों, विपक्ष के सवालों और सुशासन की योजनाओं पर खुलकर बातचीत की। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सरकार चेहरा, जाति या मजहब देखकर काम नहीं करेगी। जो भी कानून सम्मत होगा वही होगा। योगी सरकार बदलने पर अफसरों को तुरंत बदलने के पक्षधर नहीं दिखे। उनका कहना था कि सिस्टम उपर से प्रभावित होता है। हमारी सरकार उन्हीं अफसरों से काम करवाकर दिखा रही है जो पिछले दो सरकारों में कुछ नहीं कर पाए। दरअसल पुरानी सरकार के अफसरों के उन्हीं पदों पर तैनात रहने के कारण सवाल उठ रहे थे। उन्होंने अपने सीएम बनने की उस कहानी पर भी मुहर लगाई जो ओपिनियन पोस्ट के 1-15 अप्रैल के अंक में प्रकाशित हुई थी। इसके अलावा शिक्षा में प्रस्तावित बदलाव, कृषि नीति, एंटी रोमियो स्क्वाड पर उन्होंने बेहद सहजता से अपनी बात रखी। इस इंटरव्यू को आप ओपिनियन पोस्ट के अगले अंक में विस्तार से पढ़ सकते हैं।

The following two tabs change content below.
ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट

ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।
ओपिनियन पोस्ट
About ओपिनियन पोस्ट (4574 Articles)
ओपिनियन पोस्ट एक राष्ट्रीय पत्रिका है जिसका उद्देश्य सही और सबकी खबर देना है। राजनीति घटनाओं की विश्वसनीय कवरेज हमारी विशेषज्ञता है। हमारी कोशिश लोगों तक पहुंचने और उन्हें खबरें पहुंचाने की है। इसीलिए हमारा प्रयास जमीन से जुड़ी पत्रकारिता करना है। जीवंत और भरोसमंद रिपोर्टिंग हमारी विशेषता है।

Leave a comment

Your email address will not be published.


*